सिद्ध कफ़ नाशक कल्पचूर्ण
ID: 2330

गले के टॉसिल साइनस,फेफड़ों की इन्फ़ेक्सन ,दमा जुकाम, नजला, खाँसी,100℅ असरदार हैं

ID: 2300

जिदी इंफेक्शन में 3 महीने का कोर्स करें।

गले की सूजन और खराश,जिदी कफ़ को कहे अलविदा 3 ही खुराक में  छींकना, गला खराब होना, गले मे रेसा आना, रेसा कारण सांस का बंद होना, नाक जाम होना, खाँसना बंद ठीक हो जाता है।

 कफ़ के कारण सिर दर्द रहता है तो सिद्ध कफ़ ले पूरे परिवार के लिए सदा यह चूर्ण अपने घर रखे।

साइनस रोग  में और शरीर मे कही भी रेशा हो यह चुर्ण रामबाण है।

खुद बनाए अयुर्वेदिक नुस्खा आप को लिख रहे हैं।

                सिद्ध कफ नाशक चुर्ण

★हींग              100 ग्राम (हींग भून लें)

★अजवाइन    100 ग्राम

★अड़ूसा        100 ग्राम

★गिलोय चूर्ण    50 ग्राम 

★बंसलोचन      50 ग्राम

★पिपली          50 ग्राम

★दालचीनी       50 ग्राम

★आंवला चूर्ण।  50 ग्राम 

★छोटी हरड़      50 ग्राम 

★तुलसी पाचांग-50 ग्राम  

★मलॅठी-            50 ग्राम 

★चरायता चूर्ण    50 ग्राम

★काला नमक      50 ग्राम( नमक को भून लें)

★सौंठ-                20 ग्राम 

★काली मिर्च –      10 ग्राम 

3 भस्मो के संग 400 ग्राम गिलोय रस में भावना दिया जाता है।और साया में सुखाया जाता है।

सेवन विधि

सभी को चुर्ण बना कर 1-1 चमच्च दिन में 3 बार गर्म पानी से लेते रहे।

●●

बच्चों को आधा चमच्च दे।

3 दिन पूर्ण आराम करें।

जिदी कफ़ में 21 से 90 दिन तक सेवन करे।

इन रोग में जबरदस्त फायदा करेगी

★गले की खराश ,ले में खराश खिचखिच रहना

★सर्दी जुकाम

★वायरल बुखार

★लगातार नाक बहना

★छाती (सीने) और गले में इंफेसन

★सांस लेने में तकलीफ होना,

★जिदी कफ़ रेसा का बने रहना

के लिए यह दवा रामबाण है।

■■■

बलगम जमने के कारण

ज्यादा धूम्रपान करना

वायरल इन्फेक्शन होना

साइनस का रोग

सर्दी जुखाम और फ्लू

 ■■■

छाती में कफ के लक्षण

सांस लेने और खाँसने पर घरघराहट की आवाज आना

गले में खराश रहना

बलगम वाली खांसी होना

सीने में जकड़न और दर्द महसूस होना

लगातार छीकें आना और सांस लेने में तकलीफ होना

■■■

कफ को दूर करने के आसान उपाय

पानी ज्यादा पिए, शरीर से बलगम बाहर निकालने के लिए दिन भर में हर घंटे पानी पिए।

सीने, गले और नाक से बलगम तोड़ने के लिए भाप ले। ये बलगम खत्म करने का तरीका काफी आसान और फायदेमंद है।

Gale mein balgam ka ilaj, एक गिलास गरम पानी में 1 चम्मच नमक मिला कर इससे गरारे करे। दिन में 2 से 3 बार ये उपाय करने पर नाक और गले में जमा बलगम बाहर निकलने लगती है।

बलगम बनने से रोकने के लिए डेयरी प्रोडक्टस का सेवन ना करे जैसे की चीज़, दूध, दही और आइसक्रीम। इसके इलावा ज्यादा तला हुआ खाना भी ना खाएं।

धूम्रपान ना करे, धुँआ शरीर में balgham को बढ़ाता है और शरीर का जल्दी ठीक होने की क्षमता को कम करता है।

मसालेदार खाना नाक की बलगम तोड़ता है और इसे आसानी से बहने देता है।

                  ■हम आप की सेवा में है■

         ◆ किसी भी शरीरक  स्मयसा के लिए◆  

          ●निशुल्क सिद्घ अयूर्वादिक सलाह ले●

ID: 1791

                 Whats 78890 53063

https://bit.ly/2UFyETu
ID: 1788

Add Comment