सिद्ध ज्वर नाशक कल्पचुर्ण
ID: 2330

ज्वर में वासा क्वाथ की सेवन विधि 

ID: 1814

https://posts.gle/6T2tk

कोरोना वायरस से डरे न सूझबूझ से काम ले

            सिद्ध ज्वर नाशक कल्पचुर्ण

    Online मगवाएँ पूरे परिवार को दे। Whats 94178 62263

कोई भी पुराना बुखार हो, पीलिया हो ,हर प्रकार की इन्फ़ेक्सन के लिए और निमोनिया में अति उत्तम अयुर्वेदिक औषधि हैं।

         

सफ़ेद रक्त कोशिकाएं( wbc) बढ़ी या घटी हो 30 घंटे में समान्य हो जाती है। पुराने बुखार या 6 दिन से भी ज्यादा समय से चले आ रहे बुखार के लिए गिलोय काढ़ा उत्तम औषधि है। गिलोय काढ़ा भी हम नीचे विस्तार से बता रहे हैं। 

 अज्ञात कारणों से बुखार पाए छुटकारा ऐसा बुखार जिसके कारणों का पता नहीं चल पा रहा हो उसका उपचार भी गिलोय  काढ़ द्वारा संभव है।

पुररीवर्त्तक ज्वर/Typhus fever में गिलोय की चूर्ण तथा उल्टी के साथ ज्वर होने पर गिलोय का  काढ़ा शहद के साथ रोगी को दिया जाना चाहिए।

                  गिलोय काढ़ा कैसे बनाए

                          🥃🥃

6 ग्लास पानी लेकर आग पर रख दे।

उसमे नीचे लिखी सामग्री डाले

☑️ वासा 100 ग्राम

☑️  गिलोय हरी – 100 ग्राम

☑️ किसमिश     -10 पीस

☑️ छुहारे         – 5 पीस

☑️ तुलसी पत्ते    -50 पीस

☑️ पपीता पत्ता। -1पीस

☑️  पिपल पत्ते   -5 पीस

सभी सामग्री को तब तक उबाले जब तक आधा न रह जाए। 3 ग्लास बाकी बचा काढ़ा ठण्डा होने पर 1 ग्लास सुबह/1 दुपहरी/1 शाम को ले। यह क्रिया 3 दिन लगातार करे। यह काढ़ा किसी बुखार में रामबाण है।

 गिलोय से बनी कोरोना वायरस की अयुर्वेदिक औषिध

         सिद्ध ज्वर नाशक कल्पचुर्ण

                     

टाइफाइड, डेंगू, चिकन गुनिया,दिमागी बुखार, वायरल फीवर और मलेरिया।किसी भी प्रकार का  बुखार और हैपेटाटस ए बी सी  हो या डेंगू बुखार हो…. यह दवा रामबाण है यह समान पन्सारी से सुलभ मिल जाता हैं।        

☑️ कोरियर से मँगवा सकते हैं।

☑️ संपर्क करे -whats 78890 53063/9417862263

सिद्ध ज्वर नाशक कल्पचुर्ण  औषधि यह लाभ करती है- 3 ग्राम दवा 5000 डेंगू cell{ wbc} निर्मित करती है। बढ़े हुए wbc को समानता देती हैं

सिद्ध ज्वर नाशक कल्पचुर्ण -सामग्री

☑️ वासा 100 ग्राम

☑️ गिलोय चूर्ण 100 ग्राम

☑️  सतावरी 100 ग्राम

☑️ आंवला चूर्ण 100 ग्राम

☑️ कुटकी 100 ग्राम

☑️ छोटी हरड़ 100 ग्राम

☑️ तुलसी पाचांग-100 ग्राम 

☑️ चरायता चूर्ण 100 ग्राम

☑️ अजमायण-50 ग्राम

☑️ मलॅठी-20 ग्राम

☑️ सौंठ-20 ग्राम

☑️ काली मिर्च -10 ग्राम

सभी  चूर्ण को मिलाकर 300 ग्राम गिलोय रस में भावना दे।

सेवन विधि- दिन मे 4 बार  2-2 ग्राम  3-3 घंटे बाद लेते रहे ।

साथ मे दुध भी जरूर ले । बुखार मे  लगातार 3 दिन दवा ले । हैपेटाटस है तो 21 दिन ले / 21 दिन के बाद टेस्ट कराए।

🌷🌹🌷

Whats पर पूरी जानकारी ले

☑️ 94178 62263

☑️ 7889053063

🌷🌹🌹

400 ग्राम दवा 1050 रुपये with कोरियर खर्च

💎🌹💎

अपना पता साफ साफ लिखे।

हमारे बैंक खाते

☑️ Paytm 9417862263

☑️ Google pay 94178 62263

☑️ Phone pay 94178 62263

ID: 1791

🌹🌷🌹

बैंक अकाउंट

State bank of india

A/c -65072894910

Ranjit Singh

Bank code -50966

Ifsc code -sbin0050966

Sarhind barach

Fatehgarh sahib (punjab )

https://www.sidhayurved.com/2018/07/blog-post_16.html?m=1
ID: 1825

Add Comment